RTE क्या है? RTE Full Form जानिए पूरी प्रक्रिया

0

RTE क्या है? RTE Full Form जानिए पूरी प्रक्रिया 

Hello friends स्वागत है आपका हमारी website studygro. com पर । दोस्तों सरकार की ऐसी कई योजनाएं होती हैं जिनकी जानकारी ना होने के कारण आम जनता उनका लाभ नहीं उठा पाती है। act RTE भी एक ऐसी ही योजना है RTE एक act है जिसकी जानकारी बहुत कम लोगों को होती है

और जरूरतमंद लोग इसका लाभ नहीं उठा पाते है  अभी वर्तमान में RTE के एडमिशन प्रारंभ  चुके है तो जो भी अविभावक अपने बच्चों का प्रवेश RTE सीट पर करना चाहते हैं तो आज ही अपने बच्चों का प्रेवश कराये । ऑनलाइन फॉर्म भरे जा रहे हैं ऑनलाइन फॉर्म भरने की अंतिम तारीख 30 जून 2021 है।  दोस्तों आज हम आपको RTE एक्ट की पूरी जानकारी देंगे इसकी पूरी प्रक्रिया को आज हम आपको बताने वाले हैं RTE act क्या है ?  ,RTE का पूरा नाम क्या है ? ,भारत सरकार ने ये एक्ट कब लागू किया ? , RTE योजना से क्या लाभः है ?  और इसका लाभ कौन कौन ले सकता ?  इस पूरी प्रक्रिया को जानने के लिए इस पोस्ट को ध्यान पूर्वक अवश्य पढ़िए। 

RTE का पूरा नाम

RTE का पूरा नाम Right to education ( निशुल्क और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार)है।

RTE act  क्या है 

 RTE act   के अंतर्गत 6 वर्ष से 14 वर्ष तक के बच्चों को निशुल्क शिक्षा का प्रबंधन किया गया RTE  योजना के तहत कोई भी विद्यार्थी जिनकी उम्र 6 से 14 वर्ष के बीच है किसी भी गैर सरकारी स्कूल में निःशुल्क प्रवेश ले सकते है RTE सीट प्रेवश के बाद गैर सरकारी स्कूल आपसे प्रेवश शुल्क नही लेगा RTE सीट प्रवेश विद्यार्थियों की लिए सरकार द्वारा स्कूलों को पैसे भेजे जाते हैं ।

RTE act कब लागू हुआ ?

 RTE act  4 अगस्त 2009 को विधानसभा में लाया गया इसके तहत 6 से 14 साल के सभी बच्चों को निशुल्क और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अनुच्छेद 21 A के तहत दिया गया। यानि कि 6 वर्ष से 14 वर्ष के बच्चों  को पढ़ाई कराना आवश्यक कर दिया जिनकी पढ़ाई लिये आपकी  कोई फीस नही लगेगी भारत उन 135 देशों मैं से एक है जिन्होंने शिक्षा के अधिकार को मौलिक अधिकार का दर्जा दिया है।

 RTE act  1 अप्रैल 2010 से सारे देश में लागू कर दिया गया और इसी समय इसमें निशुल्क और अनिवार्य शब्द जोड़े गए निशुल्क का अर्थ है कि इस योजना के तहत प्रवेश प्राप्त बच्चों को दूसरी विद्यार्थियों की तरह प्रवेश  शुल्क देने की आवश्यकता नहीं होगी ।  और  जाति और सम्प्रदाय के आधार पर विद्यार्थियों को सरकारी या निजी शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा अवरुद्ध नहीं किया जाएग

RTE act का लाभ 

RTE act उन गरीब लोगो के लिए बहुत ही लाभदायक है जो अपने बच्चों को एक अच्छे स्कूल में पढाकर अच्छी शिक्षा देना चाहते हैं परंतु उनकी आर्थिक स्थिति कमजोर होने की वजह से वह अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा नही दे पाते थे । RTE act ने ऐसे लोगों के लिए शिक्षा के नए द्वार खोल दिये । इस योजना की तहत बच्चे बिना शुल्क के private स्कूल में शिक्षा प्राप्त कर सकते है।

इसके लाभार्थी कौन – कौन होते है

संविधान में ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में शिक्षा का स्तर बढ़ाने के लिए कमजोर वर्गों तथा आरक्षित वर्ग(sc,st,obc) के लिए निजी शैक्षणिक संस्थानों में 25% सीटें आरक्षित की गई है। जो अभिभावक अपने बच्चों का निजी शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश कराना चाहती हैं। वह सभी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपने बच्चों का ऑनलाइन फॉर्म भरवा सकते हैं। हम आगे फार्म भरने की पूर्ण प्रक्रिया का वर्णन करने वाले हैं तो आप इसे ध्यान पूर्वक पूरा पढ़ें।

RTE act  संसोधन 2019

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 10 जनवरी 2019 में आरटीई एक्ट में संशोधन को मंजूरी दी इसके तहत संविधान के सेक्शन 16 में सुधार किया गया। इस सेक्शन में सुधार करते  हुए बिंदु 1 व 2 को जोड़कर कहां गया की एकेडमिक वर्ष में पांचवी व आठवीं कक्षा की वार्षिक  परीक्षा ली जाएगी। यदि कोई भी विद्यार्थी इस परीक्षा में फेल हो जाता है तो उस विद्यार्थी को दूसरा अवसर प्रदान किया जाएगा इस दूसरी परीक्षा से पहले अतिरिक्त कक्षा प्रदान करके उसे पढ़ाया जाएगा तत्पश्चात उसकी दूसरी परीक्षा ली जाएगी।

शिक्षा सुधार के लिए केंद्रीय सलाहकार कमेटी कैब बनाई गई थी एक सलाहकार कमेटी के चेयर पर्सन डॉ दलजीत सिंह चीमा अक्टूबर 2016 को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री को एक रिपोर्ट सौंपी जिसमें बच्चों को फैल न करने की नीति पर विचार करने की बात की गई।

संशोधन के कारण

कक्षा 1 से लेकर 8 तक विद्यार्थियों को फैल न करने की नीति से नीति के कारण विद्यार्थियों की बौद्धिक क्षमता व सीखने के स्तर में गिरावट हुई है।

 इसी कारण कक्षा 9 में आने पर अधिकतर बच्चे असफल हो जाती है और उन्हें आगे की पढ़ाई बहुत ज्यादा कठिन लगने लगती है। इसके कारण से बच्चों में सीखने का और अभिभावकों का सिखाने का जज्बा धुँधला मालूम होता है ।

आवश्यक दस्तावेज

RTE act सीट पर एडमिशन कराने के लिए  आवश्यक दस्तावेज  इस प्रकार है-

1. जन्म प्रमाण पत्र

2. आय प्रमाण पत्र

3. मूल निवासी प्रमाण पत्र

4. ST/ SC/ OBC प्रमाण पत्र ( जाती प्रमाण पत्र)

5. BPL राशनकार्ड कार्ड 

6. विकलांगता प्रमाण पत्र ( यदी हो तो )

 ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया-

 सबसे पहले अपनी प्रदेश की एजुकेशन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर क्लिक करे http://educationportal.mp.gov.in

RTE प्रवेश विकल्प पर जाइए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म के लिए क्लिक कीजिए । आपके सामने एक विंडो आएगा जिसमें आवेदन फॉर्म खुला होगा आप उसमें यह निर्देश अनुसार आवश्यक जानकारी भरिए।  पूरा फॉर्म भरने के बाद सबमिट आइटम पर क्लिक करें आपकी प्रवेश प्रक्रिया अब पूर्ण हो चुकी है।

Note – friends  उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी तो फ्रेंड्स जल्दी से इस artical अपने FB और whatsapp पर शेयर कर दिजीए जिससे जरूरतमंद लोगो तक इसकी जानकारी पहुंच सके। इस artical को पूरा पढ़ने के लिये धन्यवाद।

#School_news #MP #study #MP_board

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here