Full Solution Class 10 Social Science question bank 2023 PDF | vimarsh.mp.gov.in | vimarsh.mp.gov.in

कक्षा दसवीं सामाजिक विज्ञान प्रश्न बैंक सॉल्यूशन

Class 10 Social Science question bank Solution 2023 हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट पर आज हम आपको कक्षा दसवीं सामाजिक विज्ञान प्रश्न बैंक सॉल्यूशन आपको बताने वाले हैं क्योंकि कई सारे छात्र हमें प्रश्न बैंक सॉल्यूशन के लिए कमेंट कर रहे थे तो हम इस पोस्ट में आपको सामाजिक विज्ञान कक्षा दसवीं विमर्श पोर्टल पर जारी ईमेल का सलूशन आपको बताने वाले हैं तो ध्यान से ऑफिस पूरी पोस्ट को पढ़ें।

Sst Question Bank Class 10 in hindi, Class 10th question bank solution 2023, social science question bank solution, samajik vigyan prashn bank solution, MP Board class 10th question bank solution, vimarsh portal question bank 2023

Full Solution Class 10 Social Science question bank 2023 |कक्षा दसवीं सामाजिक विज्ञान प्रश्न बैंक सॉल्यूशन 2023

प्रश्न 1. पट्टी कृषि किसे कहते है?

 उत्तर – पट्टी कृषि के अन्तर्गत बड़े खेतों को पट्टियों में बाँटा जाता है। फसलों के बीच में घास की पट्टियाँ उगाई जाती हैं। ये पवनों द्वारा जनित बल को कमजोर करती हैं।

 

प्रश्न  2. समोच्च जुताई किसे कहा जाता है ?

उत्तर- ढाल वाली भूमि पर समोच्च रेखाओं के समानान्तर हल चलाने से ढाल के साथ जल बहाव की

गति घटती है। इसे समोच्च जुताई कहा जाता है।

 

प्रश्न 3. चादर अपरदन किसे कहते हैं?

उत्तर- जब किसी विस्तृत क्षेत्र की ऊपरी मृदा घुलकर जल के साथ बह जाती है तो उसे चादर अपरदन कहते है।

प्रश्न 4. राष्ट्रीय संसाधन किसे कहते हैं?

उत्तर-  राष्ट्रीय संसाधन:-  वैसे संसाधन राष्ट्रीय संसाधन कहलाते हैं जिनका स्वामित्व राष्ट्र के पास होता है। उदाहरण: सरकारी जमीन, सड़क, नहर, रेल, आदि। 

 

प्रश्न 5. मृदा निम्नीकरण से क्या आशय है?

उत्तर- मृदा निम्नीकरण से तात्पर्य भूमि के उस निम्नीकरण से है, जिसमें मृदा यानी मिट्टी की उपजाऊ शक्ति कम हो जाती है और ऐसी मिट्टी वाली भूमि में कृषि कार्य करना बिल्कुल कठिन हो जाता है।

 

प्रश्न 6. उत्पत्ति के आधार पर संसाधन के प्रकार लिखिए।

उत्तर- उत्पत्ति के आधार पर संसाधन के प्रकार-

जैव संसाधन:    वैसे संसाधन जैव संसाधन कहलाते हैं जो जैव मंडल से मिलते हैं। उदाहरण: मनुष्य, वनस्पति, मछलियाँ, प्राणिजात, पशुधन, आदि। 

अजैव संसाधन:   वैसे संसाधन अजैव संसाधन कहलाते है जो निर्जीव पदार्थों से मिलते हैं। उदाहरण: मिट्टी, हवा, पानी, धातु, पत्थर, आदि।

 

प्रश्न 7 कृषि के लिए अनुपलब्ध भूमि के कोई दो बिंदु लिखिए।

 

प्रश्न 8 सकल कृषि क्षेत्र कौनसा कहलाता है?

उत्तर- सकल बोया गया क्षेत्र : कृषि भूमि के कुछ भाग पर वर्ष में एक से अधिक बार फसलें बोई व काटी जाती हैं। जितने भू-भाग पर एक से अधिक बार फसलें बोई जाती हैं, उसे उतनी ही बार कुल बोए गए क्षेत्र में जोड़ा जाता है। निवल बोया गया क्षेत्र: सकल बोया गया क्षेत्र शुद्ध अथवा निवल बोए गए क्षेत्र से अधिक होता है।

 

प्रश्न 9. मरुस्थलीय मिट्टी एवं जलोढ़ मिट्टी में कोई दो – दो अंतर लिखिए।

उत्तर- मरुस्थलीय मिट्टी एवं जलोढ़ मिट्टी में अंतर-

क्रमांक

मरुस्थलीय मिट्टी

जलोढ़ मिट्टी

1.

यह मिट्टी दक्षिण पश्चिमी मानसून द्वारा कच्छ के रण से की ओर से उड़कर भारत के पश्चिमी शुष्क प्रदेश में जमा हुई है।

भारत के काफी बड़े क्षेत्रों में यही मिट्टी पाई जाती है इसके अंतर्गत 40% भाग सम्मिलित है संपूर्ण उत्तरी मैदान में ही मिट्टी पाई जाती है।

2.

इस मिट्टी में खनिज नमक अधिक मात्रा में पाया जाता है।

इस मिट्टी में साधारणतया पोटाश फास्फोरिक अम्ल तथा चुना पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है।

 

प्रश्न 10. बांगर मिट्टी और खादर मिट्टी में दो अंतर लिखिए।

उत्तर- बांगर मिट्टी और खादर मिट्टी में अंतर-

क्रमांक

बांगर मिट्टी

खादर मिट्टी

1.

पुराने जलोढ़ अवसादो के निक्षेप से निर्मित उच्च भू आकार को बांगर कहते हैं

बाढ़ की नवीन जलोढ़ मिट्टी से निर्मित निचले भाग को खादर कहते हैं

2.

इसका विस्तार पंजाब उत्तर प्रदेश में अधिक पाया जाता है

इसका विस्तार पूर्वी उत्तर प्रदेश बिहार झारखंड व पश्चिम बंगाल में है

 

प्रश्न 11 मृदा अपरदन किसे कहते हैं? मृदा अपरदन के दो कारण लिखिए।

उत्तर- मृदा अपरदन प्राकृतिक रूप से घटित होने वाली एक भौतिक प्रक्रिया है जिसमें मुख्यत: जल एवं वायु जैसे प्राकृतिक भौतिक बलों द्वारा भूमि की ऊपरी मृदा के कणों को अलग कर बहा ले जाना सम्मिलित है। अर्थात मृदा के कटा और उसके बाप की प्रक्रिया को मृदा अपरदन कहा जाता है।

मृदा अपरदन के कारण – 

(1) वनों का नाश-   कृषि के लिये भूमि का विस्तार करने तथा जलाने व इमारती लकड़ी की बढ़ती

हुई मांग को पूरा करने के लिए पिछले कई वर्षों से वनों का विनाश हो रहा है। फलतः पानी को नियन्त्रित करने

की शक्ति घटी है और भूमि का कटाव बढ़ गया है।

(2) अत्यधिक पशु चारण–  पशु चारण पर नियन्त्रण न रखने से भी जंगलों की घास काट ली जाती है

अथवा जानवरों द्वारा चर ली जाती है। इससे भूमि की ऊपरी परत हट जाती है और भूमि कटाव होने लगता है।

(3) आदिवासियों द्वारा झूमिंग कृषि करना–  हमारे देश में अनेक स्थानों पर आदिवासी जंगलों को

साफ करके खेती करते हैं। फिर उस भूमि को छोड़कर दूसरे स्थानों पर चले जाते हैं जिससे पहले वाली भूमि

पर कटाव की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

(4) पवन अपरदन– इस तरह का कटाव वनस्पति का आवरण हटने से होता है। भू-गर्भ में पानी की

सतह से अत्यधिक नीचे चले जाने से भी वायु अपरदन होता है।

 

प्रश्न 12 एजेंडा 21 क्या है ?

उत्तर-  एजेंडा 21 –  यह एक घोषणा है जिसे 1992 में ब्राजील के शहर रियो डी जेनेरो में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण और विकास सम्मेलन (UNCED)  के तत्वाधान में राष्ट्र अध्यक्क्षो द्वारा स्वीकृत किया गया था।

 

प्रश्न 13 काली मिट्टी की दो विशेषताएं लिखिए।

 उत्तर – काली मिट्टी की विशेषताएं –

  1. काली मिट्टी का निर्माण बहुत ही महीन मृतिका (चीका) के  पदार्थों से हुआ है।
  2.  काली मिट्टी की आधे समय तक नमी धारण करने की क्षमता प्रसिद्ध है।

प्रश्न 14 संसाधन किसे कहते हैं?

उत्तर-  पर्यावरण में उपलब्ध प्रत्येक वस्तु जो हमारी आवश्यकता को पूरा करने में प्रयुक्त की जा सकती है और जिसको बनाने के लिए प्रौद्योगिकी उपलब्ध है, एक  संसाधन है।

प्रश्न 15 हम आपके साथ के आधार पर संसाधनो के  प्रकार लिखिए।

उत्तर- समाप्यता के आधार पर हमारे वातावरण में उपस्थित सभी वस्तुओं को जो दो वर्गों में बाँटा जा सकता है: नवीकरण योग्य (Renewable) और अनवीकरण योग्य (Non-renewable)

 

(a) नवीकरण योग्य (Renewable) संसाधन

वैसे संसाधन जो फिर से नवीकृत किया जा सकता है, नवीकरण योग्य संसाधन (Renewable Resources) कहा जाता है। जैसे सौर उर्जा,।

 

(b) अनवीकरण योग्य संसाधन (Non Renewable Resources)

वातावरण में उपस्थित वैसी सभी वस्तुएँ, जिन्हें उपयोग के बाद नवीकृत नहीं किया जा सकता है या उनके विकास अर्थात उन्हें बनने में लाखों करोड़ों वर्ष लगते हैं, को अनवीकरण योग्य संसाधन कहा जाता है।

 

प्रश्न 16 मृदा संरक्षण के कोई दो उपाय लिखिए ।

उत्तर- मृदा संरक्षण के उपाय-

  1.  मिट्टी की उर्वरता बनाए रखने के लिए वैज्ञानिक तरीकों को अपनाना ।
  2. वृक्ष लगाकर मृदा अपरदन को रोकना ।

 

प्रश्न 17 नवीकरणीय संसाधन किसे कहते हैं?  उदाहरण सहित समझाइए ।

उत्तर –  नवीकरणीय योग्य संसाधन –  वे संसाधन जिन्हें भौतिक रसायन के आंतरिक प्रक्रिया द्वारा नवी कृत्य पुनः उत्पन्न किया जा सकता है उन्हें नवीकरण योग्य योग्य संसाधन कहा जाता है।  उदाहरण के लिए सौर ऊर्जा पवन ऊर्जा तथा जल वन व  वन्य जीव।

 

प्रश्न 18 अनवीकरण संसाधन किसे कहते हैं ? उदाहरण सहित समझाइए।

उत्तर-  अनवीकरण योग्य संसाधन (Non Renewable Resources)- इन संसाधनों का विकास एक लंबे भूवैज्ञानिक अंतराल में होता है खनिज और जीवाश्म ईंधन इस प्रकार के संसाधनों के उदाहरण हैं इनके बनने में लाखों वर्ष लग जाते हैं इनमें से कुछ संसाधन जैसे धातु में पुनः सक्रिय हैं और कुछ संसाधन जैसे जीवाश्म ईंधन और चक्रीय हैं वह एक बार के प्रयोग के साथ ही समाप्त हो जाते हैं।

 

प्रश्न 19 मरुस्थलीय मृदा की दो विशेषताएं लिखिए।

उत्तर मरुस्थलीय मृदा की विशेषताएं-

  1.  यह बालू प्रधान मिट्टी है जिसमें बालू के कणों मोटे होते हैं।
  2.  इसमें नमी कम रहती है तथा वनस्पति के अंत भी कम ही पाए जाते हैं किंतु सिंचाई करने पर यह उपजाऊ हो जाती है।

 

प्रश्न 20 जलोढ़ मिट्टी की कोई दो विशेषताएं लिखिए ।

उत्तर-  जलोढ़ मिट्टी की विशेषताएं-

  1.  इसमें विभिन्न मात्रा में रेत गाद  तथा मृतिका ( चौक मिट्टी ) मिली होती है ।
  2. जलोढ़ मिट्टी सबसे अधिक उपजाऊ होती है।

 

प्रश्न 21 भारत में भू संसाधन  का उपयोग किस उद्देश्य से किया जाता है ? कोई दो उद्देश्य लिखिए।

 

प्रश्न 22 शुद्ध (निबल) बोया क्षेत्र किसे कहते हैं?

उत्तर- शुद्ध बोया गया क्षेत्र–  वह भूमि जिस पर फसलें उगाई व काटी जाती हैं। उसे निवल बोया गया क्षेत्र अथवा शुद्ध बोया गया क्षेत्र कहते हैं।

 

प्रश्न 23  मृदा परिच्छेदिका का नामांकित चित्र बनाइए।

उत्तर –  मृदा परिच्छेदिका का नामांकित चित्र-

 

प्रश्न 24 स्वामित्व के आधार पर संसाधनों के प्रकार लिखिए ।

उत्तर- स्वामित्व के आधार पर संसाधनों का वर्गीकरण इस प्रकार किया जा सकता है-

(1) व्यक्तिगत संसाधन–  संसाधन निजी व्यक्तियों के स्वामित्व में भी होते हैं। गाँव में बहुत से लोग भूमि के स्वामी भी होते हैं और बहुत से लोग भूमिहीन होते हैं। शहरों में लोग भूखण्ड, घरों व अन्य जायदाद के स्वामी होते हैं। बाग, चारागाह, तालाब और कुओं का जल आदि संसाधनों के निजी स्वामित्व के कुछ उदाहरण हैं।

(2) सामुदायिक स्वामित्व वाले संसाधन–  वे संसाधन समुदाय के सभी सदस्यों को उपलब्ध होते हैं। गाँव की शामिलात भूमि (चारण भूमि, श्मशान भूमि, तालाब इत्यादि) और नगरीय क्षेत्रों के सार्वजनिक पार्क, पिकनिक स्थल और खेल के मैदान आदि।

(3) राष्ट्रीय संसाधन– तकनीकी तौर पर देश में पाये जाने वाले सारे संसाधन राष्ट्रीय हैं। सारे खनिज पदार्थ, जल संसाधन, वन, वन्य जीवन, राजनीतिक सीमाओं के अन्दर सारी भूमि और 12 समुद्री मील (22.2 किमी) तक महासागरीय क्षेत्र (भू-भागीय समुद्र) व इसमें पाए जाने वाले संसाधन राष्ट्र की सम्पदा हैं।

(4) अन्तर्राष्ट्रीय संसाधन–  कुछ अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाएँ संसाधनों को नियन्त्रित करती हैं। तट रेखा से 200 समुद्री मील की दूरी। (अपवर्जक आर्थिक क्षेत्र) से परे खुले महासागरीय संसाधनों पर किसी देश का अधिकार नहीं है। इन संसाधनों को अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओं की सहमति के बिना उपयोग नहीं किया जा सकता।

 

प्रश्न 25 भारत में संसाधनों के संरक्षण के कोई दो उपाय लिखिए 

उत्तर – भारत में संसाधनों के संरक्षण के उपाय-

  1. प्राकृतिक संसाधनों का अधिक उपयेाग करना बंद कर देना चाहिए। 
  2. किसानों को मिश्रित फसल की विधि, उर्वरक, कीटनाशक और फसल चक्र के उपयोग को सिखाया जाना चाहिए।

 

प्रश्न 26.  मृदा अपरदन के कोई संसाधनों के अंधाधुन उपयोग से उत्पन्न होने वाली कोई दो समस्याएं लिखिए।

उत्तर मृदा प्रदान की संसाधनों के अंधाधुंध उपयोग से उत्पन्न होने वाली समस्याएं –

  1. भूमिगत जल स्तर में गिरावट
  2. जैव विविधता में कमी

 

प्रश्न 27. भारत में पाई जाने वाली किन्हीं दो मृदाओ की विशेषताएं लिखिए।

उत्तर- भारत में पाई जाने वाली मृदाओ की विशेषताएं – 1. जलोढ़ मिट्टी की विशेषताएं- 

(1) इस मिट्टी में विभिन्न मात्रा में रेत, गाद तथा मृत्तिका (चाक मिट्टा) मिला होता है।

(2) यह मिट्टी सबसे अधिक उपजाऊ होती है।

(3) इस मृदा में साधारणतया पोटाश, फॉस्फोरिक अम्ल तथा चूना पर्याप्त मात्रा में होता है।

(4) इसमें नाइट्रोजन तथा जैविक पदार्थों की कमी होती है।

(5) इसमें कुएँ खोदना और नहरें निकालना सरल होता है, अत: यह कृषि के लिए बहुत ही उपयोगी है।

 

  1. काली मिट्टी की विशेषताएं-

(1) काली मिट्टी का निर्माण बहुत ही महीन मृत्तिका (चीका) के पदार्थों से हुआ है।

(2) इसकी अधिक समय तक नमी धारण करने की क्षमता प्रसिद्ध है।

(3) इसमें मिट्टी के पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में पाये जाते हैं। कैल्सियम कार्बोनेट, मैग्नीशियम कार्बोनेट,

पोटाश और चूना इसके मुख्य पोषक तत्व हैं।.

(4) यह मिट्टी कपास की फसल के लिए बहुत उपयुक्त है। अत: इसे कपास वाली मिट्टी भी कहा जाता है।

 

प्रश्न 28 संसाधनों के अंधाधुंध उपयोग से उत्पन्न होने वाली कोई दो समस्याएं लिखिए 

उत्तर – संसाधनों के अंधाधुंध उपयोग से उत्पन्न होने वाली समस्याएं- 

  1. ग्लोबल वार्मिंग 
  2. ओजोन परत का ह्रास

 

प्रश्न 29 भारत में सबसे अधिक कौन सी मिट्टी पाई जाती है ? इसकी विशेषताएं लिखिए।

ब्रदर सबसे महत्वपूर्ण नवीकरण योग्य प्राकृतिक संसाधन है भारत में सबसे अधिक जलोढ़ मिट्टी पाई जाती है यह मिट्टी विस्तृत रूप से फैली है संपूर्ण उत्तरी मैदान जलोढ़ मिट्टी से बना है

विशेषताएं  :―

(1) इस मिट्टी में विभिन्न मात्रा में रेत, गाद तथा मृत्तिका (चाक मिट्टा) मिला होता है।

(2) यह मिट्टी सबसे अधिक उपजाऊ होती है।

 

Rate this post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here