श्वसन और प्रकाश संश्लेषण में अंतर | by Studygro

 श्वसन और प्रकाश संश्लेषण में अंतर

श्वसन और प्रकाश संश्लेषण मैं क्या क्या अंतर होते हैं इसके बारे में हम विस्तार से जानने वाले हैं यह प्रश्न बायोलॉजी की परीक्षाऔ में बार-बार आता है तो आइए जान लेते हैं

श्वसन और प्रकाश संश्लेषण में अंतर

क्र.

श्वसन

प्रकाश संश्लेषण

1.

श्वसन की प्रक्रिया के लिए प्रकाश की आवश्यकता नहीं होती है यह प्रतिक्रिया दिन रात होती है।

प्रकाश संश्लेषण सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति मैं होता है।

2.

यह एक विघटन या विनाशकारी प्रक्रिया है।

यह एक निर्माण कार्य प्रक्रिया है।

3.

श्वसन की प्रक्रिया सभी प्रकार की कोशिकाओं में होती है।

प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया पौधों के हरे भागों में होती है।

4.

श्वसन की प्रक्रिया माइट्रोकांड्रिया और कोशिका द्रव में होती है।

प्रकाश संश्लेषण की क्रिया हरित लवक में होती है।

5.

इस प्रक्रिया में ग्लूकोज और ऑक्सीजन द्वारा CO2 और जल बनते हैं

उदाहरण- 

C6 H12 O6 + 6O2 ——> 6CO2+ 6H2O +38 ATP (ऊर्जा)

इस प्रक्रिया में जल और CO2 का उपयोग कर ग्लूकोस का निर्माण होता है

उदाहरण- 

6CO2 + 6H2O ——> C6 H12 O6 + 6O2 +2 ATP (ऊर्जा)

6.

जीवधारी श्वसन के बिना कुछ मिनट के लिए ही जीवित रह सकते हैं

पौधे प्रकाश संश्लेषण के बिना कई दिनों तक जीवित रह सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here