महात्मा गांधी पर निबंध // Mahatma Gandhi essay in Hindi + English

Mahatma Gandhi essay – आज की पोस्ट में हम Mahatma Gandhi essay लेकर आए है महात्मा गांधी जी का निबंध बहुत से परीक्षा में मुझे जाता है खासकर 1 से लेकर 8 तक की कक्षा में हमेशा आता है तो आप इस निबंध को जरूर याद करें नीचे दिया गया इंग्लिश और हिंदी दोनों भाषाओं में दिया गया है आपको जिस भाषा मैं करना हो आप कर सकते हैं और ऐसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।


Mahatma Gandhi essay

Mahatma Gandhi was a great man of India. He was a servant of mankind. He was the father of the nation. Countrymen called him ‘Bapu’.His full name was Mohan Das Karam Chand Gandhi.
He was born on October 2, 1869, at Porbander. His father was a Diwan of Rajkot. He received his education in India and England. He became a barrister in 1891. He started his practice at Bombay. An Indian firm called him to South Africa for legal advice. There he fought for the rights of the Indians.In 1914 Gandhiji came back to India. He fought against the rule of British. He was sent to jail many times. At last he succeeded India become free on 15th August, 1947.
Gandhiji belleved in peace and non-violence. He led a simple life. He was against caste system. He worked for the uplift of the Harijans and the Hindu Muslim unity.
On january 30, 1948, he was shot dead by Nathu Ram Godse. Gandhiji’s name will always shine like star. His greatful countrymen will never forget him.

महात्मा गांधी निबंध

महात्मा गांधी भारत के एक महान व्यक्ति थे। वह मानव जाति का सेवक था। वह राष्ट्र के पिता थे। देशवासियों ने उन्हें ‘बापू’ कहा। उनका पूरा नाम मोहन दास करम चंद गांधी था।

उनका जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को पोरबंदर में हुआ था। उनके पिता राजकोट के दीवान थे। उन्होंने भारत और इंग्लैंड में अपनी शिक्षा प्राप्त की। वह 1891 में बैरिस्टर बन गया। उसने बंबई में अपना अभ्यास शुरू किया। एक भारतीय फर्म ने उन्हें कानूनी सलाह के लिए दक्षिण अफ्रीका बुलाया। वहां उन्होंने भारतीय लोगों के अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ी। 1914 में गांधीजी वापस भारत आए। उन्होंने अंग्रेजों के शासन के खिलाफ लड़ाई लड़ी। उन्हें कई बार जेल भेजा गया। अंत में वह सफल हुआ 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ।

गांधीजी शांति और अहिंसा में विश्वास करते थे। उन्होंने सादा जीवन व्यतीत किया। वह जाति व्यवस्था के खिलाफ थे। उन्होंने हरिजनों और हिंदू मुस्लिम एकता के उत्थान के लिए काम किया।

30 जनवरी, 1948 को नाथू राम गोडसे ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। गांधीजी का नाम हमेशा सितारे की तरह चमकता रहेगा। उनके महान देशवासी उन्हें कभी नहीं भूलेंगे।

हेलो दोस्तों कैसी लगी आपको हमारी पोस्ट अगर आपको पसंद आई हो कैसे सर जरुर कर देना।

Tags,महात्मा गांधी पर विस्तृत निबंध, महात्मा गांधी एस्से इन इंग्लिश, महात्मा गांधी निबंध हिंदी, महात्मा गांधी निबंध इन हिंदी, महात्मा गांधी जी पर निबंध, Mahatma Gandhi essay in english in 500 words, महात्मा गांधी एस्से इन इंग्लिश,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here